खामोशियों में  रहे, खामोशियों के सवाल  जवाब

आस पास  रहकर भी आस पास फासले हज़ार,

तू सो जा ए दिल

अँधेरा बहुत तेरे शहर में 

के अपना यहाँ कोई दिखता नही 

जो दिखता है वो अपना नही!

Advertisements