A hindi urdu poetic verse with english translation…


I kept out at your place

beloved moments from the bag of memories

either spend it or keep it my love

with all safety at any corner of heart,

In the bid of your love

open in market

am i scattered less from you

that also got wasted by world too.


तेरे दर पर रख दिये है निकालकर 

यादों की पोटली से हसीन लम्हे 

ख़र्च कर दे या रख ले सनम 

दिल के किसी कोने में सेहजकर 

तेरे इश्क की बोली में बेआबरू भरे बाज़ार हुए 

तुझसे बिखरे कम थे क्या 

ज़माने से भी बर्बाद हुए..

Advertisements